टूर का मजा सेक्सी लेडी के साथ

सोनू सोलंकी

13-04-2022

237,231

हॉट मैरिड गर्ल सेक्स कहानी मेरे साथ काम करने वाली शादीशुदा लड़की की है. हम पुराने दोस्त थे. एक बार हम घूमने समुद्र तट पर गए तो मेरी नीयत उस पर बिगड़ी.


दोस्तो, आप सभी चूत और लंड धारकों को मेरा नमस्कार.


मेरा नाम संजू है, मैं गुजरात के दीव क्षेत्र से हूँ. आज मैं अपने जीवन की एक यादगार Xxx कहानी लेकर आया हूँ.


यह हॉट मैरिड गर्ल सेक्स कहानी आज से 4 महीने पहले की है जोकि मेरे साथ जॉब करने वाली लड़की के साथ घटी थी.


पहले में अपने साथ काम करने वाली लड़की का परिचय दे देता हूं. उसका नाम रंजना है और वो मेरे साथ पिछले कई साल से काम कर रही थी.


वैसे तो मेरे और उसके मन में ऐसा कुछ ख्याल था ही नहीं. उसके साथ काम करने के दौरान ही मेरी शादी हो गई थी और मेरी शादी को भी अब 7 साल हो गए थे. रंजना की भी शादी हो चुकी और उसकी शादी को भी 6 साल हो गए थे.


हम दोनों अपनी अपनी लाइफ में अपने अपने तरीके से जी रहे थे.


पर कहते हैं ना कि नसीब कहां से कहां ले जाता है. आपको कुछ खबर ही नहीं लगती है. हमारे साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ.


हम दोनों अपने काम के प्रति वफादार रहते थे और इसी लिए हम दोनों की अच्छी बनती थी.


एक दिन हमारे ऑफिस में सभी को एक दिन के टूर पर जाने का फैसला किया गया. सभी को टूर पर जाना अनिवार्य था.


सब रविवार के दिन सुबह लगभग 7 बजे तैयार होकर यहां से नजदीक पोरबंदर शहर की ओर निकल पड़े. हमारे पास एक 14 सीटर गाड़ी थी.


मैं और रंजना पास में बैठे थे. रास्ता खराब होने की वजह से हम लोग आपस में टकरा रहे थे. मेरा हाथ बार बार उसके मम्मों को टच कर जाता था.


फिर भी उसके मन में कोई और भाव नहीं था और ना ही मेरे मन में.


फिर वहां जाकर जब सब लोग समुद्र में नहाने गए. वहां कुछ ऐसा हुआ कि उसने जो गाउन पहना था, वो भीग गया था भीगने के बाद वह गाउन उसके बदन से एकदम चिपक गया था, जिससे उसके अन्दर का नजारा साफ साफ दिख रहा था.


उस वक्त मेरी नियत पहली बार बिगड़ी. मैं बार बार उसको देख रहा था.


मैंने उसके करीब जाकर उससे कहा- तुम बहुत सुंदर दिख रही हो. उसने मेरी बात पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया पर मेरा लंड उसके मम्मों को देख कर खड़ा हो गया था.


कुछ देर बाद जब उसकी नजर जब मेरे बॉक्सर में फूले हुए लंड पर पड़ी तो उसकी आंखों में चमक आ गई.


मैं उसका 32-30-34 का फिगर ताड़ रहा था. शादी के बाद उसका शरीर थोड़ा भर गया था और काफी अच्छा हो गया था. उसको देख कर लगता था कि उसका पति उसको जम कर चोदता होगा.


मेरे बॉक्सर में खड़ा लंड देख कर रंजना बोली- क्या हुआ जनाब, अपने केले को कंट्रोल करो, वरना परेशान हो जाओगे. यहां अभी किसी की गुफा खाली नहीं है कि वो तुम्हारे केले को ठंडा कर सके. तुम्हें अपने हाथ से काम चलाना पड़ेगा.


आज रंजना ने खुल कर जब इस तरह के शब्दों का प्रयोग किया तो मैं और ज्यादा उत्तेजित हो गया. मुझमें कुछ हिम्मत भी आ गई थी.


मैंने भी कह दिया- जब तेरी जैसी गुफा यहां उपलब्ध है, तो किसी और का क्या काम. फिर मैं अपने हाथ को क्यों तकलीफ दूंगा. इस पर उसने हंस कर जवाब दिया- सीधे पॉइंट पर आ गए … हम्मम्म.


मैंने कहा- जैसी आपकी मर्जी मोहतरमा, जबरदस्ती हमें आती नहीं और प्यार में हम कुछ कमी रखते नहीं. वो बोली- बड़े आशिकाना हो रहे हो!


मैंने उसके दूध देखते हुए कहा- जब बड़े बड़े पहाड़ लुभा रहे हों तो कौन चूतिया होगा जो आशिक नहीं बन जाएगा. वो अपने मम्मों को हिलाती हुई बोली- मेरे बड़े बड़े हैं?


मैंने उसके मम्मों पर पानी फैंकते हुए कहा- दिखते तो बड़े हैं, पर दबाने से मालूम चलेगा कि कितना दम है. वो बोली- तुझे दबाना है?


मैंने कहा- हां चूसना भी है. वो बोली- तभी तेरा खड़ा हो गया है.


मैंने कहा- अब बैठाने की बात भी कर मेरी छम्मक छल्लो. वो आंख मारती हुई बोली- ओए होए छम्मक छल्लो … क्या बात है डार्लिंग आज तो तेरी बीवी बनना ही पड़ेगा.


मैंने कहा- हां बन जा ना. मुझे भी चैन मिल जाएगा. अब वो मैरिड गर्ल सेक्स के लिए तैयार थी, उसने कहा कि चलो जगह बताओ किधर चलना है?


मैंने कहा- ओके कुछ मिनट का टाइम दो. मैंने तुरंत जाकर फोन उठाया और नजदीक के होटल में एक रूम बुक करवा लिया.


इसके बाद मैं रंजना को लेने गया. उसने कहा- तुम मुझे उस होटल का नाम और रूम नंबर बताओ और होटल में पहुंचो … सभी की नजर से बचकर मैं आती हूँ.


मैं तुरंत वहां से निकला और बाहर एक मेडीकल स्टोर से कंडोम का पैकेट लेकर होटल आ गया.


होटल में आकर मैंने चार पैग लार्ज कमरे में लाने को बोल दिया. दो मिनट बाद एक वेटर चार पैग दे गया और साथ में पानी की बोतल व भुने काजू ले आया.


मैंने एक पैग तो तुरंत गटक लिया, फिर सिगेरट सुलगा कर लंड सहलाने लगा.


थोड़ी देर में वो भी रूम में आ गई. मैंने रूम का दरवाजा बंद करके सबसे पहले उसकी तरफ देखा. वो मुस्कुरा रही थी.


मैंने उसका हाथ पकड़ा और उसके साथ बाथरूम में घुस गया.


क्योंकि हम दोनों समुद्र में नहा कर आए थे तो पहले उसके नमक को साफ करना था.


हम दोनों नंगे हो गए और साथ में नहाने लगे. वो मेरे लंड को सहलाने लगी थी और मैं उसके मम्मों को चूस रहा था.


उसके बाद दोनों नंगे ही रूम में आ गए. बेड पर आकर हम दोनों एक दूसरे को बांहों में समाने को बेताब थे.


मैंने उसे पैग दिया तो वो बोली- हां इसकी बड़ी जरूरत थी. एक झटके में उसने पैग खत्म कर लिया और सिगरेट सुलगा कर कश लेने लगी.


हम दोनों एक दूसरे को चूमने लगे और प्यार करने लगे.


फिर वो मेरी गोद में आकर बैठ गई और हम दोनों ने बाकी के दोनों पैग खत्म कर लिए.


अब मैंने उसका सर अपनी छाती पर रख लिया और पहले उसको सर पर किस किया. अपने हाथ से उसके मम्मों को सहलाया और अपना प्यार जताया.


फिर धीरे धीरे मैंने उसके बूब्स चूसना शुरू किए तो उसके मुँह से अजीब अजीब सी आवाजें निकलने लगीं. उसके हाथ मेरे सर पर जमे हुए थे और वो मुझे जोर जोर से चूसने को इशारा कर रही थी.


मेरा एक हाथ उसके नीचे आ गया और मैं उसकी चूत पर हाथ फिराने लगा.


उसने भी टांगें खोल दीं और चुत में उंगली की रास्ता दे दी. मैंने धीरे से अपनी एक उंगली उसकी चूत में डाल दी और आगे पीछे करने लगा.


वो अपनी मस्ती में आ गई थी और अपना एक हाथ मेरे लंड पर लाकर लंड हिलाने सहलाने लगी.


मैंने दूध चूसने के बाद उसकी चुम्मियां लेनी शुरू कर दीं और बहुत देर तक उसके बदन को चूमा. फिर मेरे होंठ उसके होंठों पर लग गए और होंठ चूसते हुए मैं उसके मम्मों को दबाने लगा.


उसके बूब्स काफी मुलायम थे तो मुझे भर भर कर मसलने में खूब मजा आ रहा था.


वो शोख निगाहों से मुझसे बोली- अब बता कैसे हैं? मैंने कहा- एकदम धांसू हैं यार. मजा आ गया.


वो बोली- तेरी इन पर आज इतने सालों बाद कैसे चली गई? मैंने कहा- मैंने कभी भी तुझे इतना सेक्सी रूप में देखा ही नहीं था.


वो हंसी और बोली- मैंने तो तुझे कई बार दिखाने की कोशिश की. मगर तू देखता ही नहीं था. मैंने कहा- सॉरी यार … अब तक तो मैंने तेरी चुत का भोसड़ा बना दिया होता.


वो जोर जोर से हंसने लगी.


फिर धीरे धीरे मैं नीचे आ गया और अपनी जीभ मैंने उसकी चूत पर रख दी. वो अपनी चुत पर मेरी जीभ का अहसास पाते ही एकदम से उछल गई. मैंने अपनी जीभ चुत से लगाए रखी और चाटता रहा.


वो मादक आवाजों से कमरे को भर रही थी. उसने मुझे बाद में बताया था कि उसका पति कभी कभी ही उसकी चूत चाटता था.


उसको चुत चटवाने में खूब मजा आने लगा था. उसका हाथ मेरे सर को अपनी चूत पर दबाने लगा था.


काफी देर तक चूत चाटने के बाद आखिर उसने अपनी चुत से पानी छोड़ दिया. फिर भी मैं लगा रहा और चूत चाटता रहा इससे वो फिर से गर्मा गई.


थोड़ी देर बाद मैं उठा और अपना लंड उसके दोनों बूब्स के बीच में घुमाने लगा. वो मेरे लंड के सुपारे पर जीभ लगाने लगी.


कुछ देर बाद मैंने अपना लंड उसके मुँह में दे दिया. वो धीरे धीरे लंड चूसने लगी.


कुछ देर बाद उससे रहा नहीं गया तो बोलने लगी- अब मेरी चूत में तुम अपना लंड पेल दो.


मैंने भी मौके को देखते हुए उसके दोनों पैर ऊपर करके मेरा लंड उसकी चूत पर रख दिया. अभी लंड पेलने वाला ही था कि उसने कहा- कंडोम लगा लो.


मैंने भी समझदारी उसी में देखी और कंडोम लगाया. पहले तो मैं धीरे धीरे उसकी चूत के ऊपर लंड घुमाने लगा और उसको और तड़पाने लगा. वो नीचे से अपनी गांड उठा कर लंड गप्प करने में लगी थी और मैं उसकी चुत की फांकों में सुपारा रगड़ कर मजा ले रहा था.


उसने कहा- क्यों सता रहे हो … जल्दी से पेल दो न! मगर मैं लंड चुत पर घिसता रहा.


काफी देर बाद जब उससे रहा नहीं गया, तब जाकर उसने मुझे अपने ऊपर खींचा और मेरा लंड अपने हाथों से पकड़ कर गाली दी. ‘पेल न भोसड़ी के.’


मैं हंसा और वो अपनी चूत पर रख कर अपने आप अन्दर घुसाने का काम करने लगी.


फिर मैंने भी उसे साथ देना शुरू कर दिया. मैं धीरे से उसकी चूत में अपना लंड सरकाने लगा. धीरे धीरे पूरा लंड उसकी चूत में डाल देने के बाद उसे और मजा आने लगा.


उसके पति और मेरा लंड साइज में लगभग एक जैसे थे. यह बात उसने मुझे बताई थी.


मेरा लंड चूत में जाने से उसे उतनी कोई ज्यादा तकलीफ़ नहीं हुई थी.


उसके बाद जो मैंने उसको अलग अलग पोज में उसकी बजाई, तो वो आह आह कर उठी. उससे उसको थोड़ी मीठी कसक भी हुई.


उसका पति दस मिनट में गिर जाता था पर मैंने लगभग 20 मिनट का समय लिया; उसे अलग अलग एंगल में ताबड़तोड़ चोदा. उस मैरिड गर्ल को मेरे लंड से चुदाई में बहुत मजा आया.


मैंने उसे सीधे ऊपर आकर चोदा. वो मेरे ऊपर आकर … उसने लंड अपने आप चूत में लिया. घोड़ी स्टाइल में चोदा, खड़े खड़े भी चोदा. पलंग के कोने पर ले जाकर उसे चोदा, दोनों पैर मेरे सर पर रख कर भी चोदा.


इसी तरह मैंने अलग अलग पोज में काफी समय तक उसको पेला.


उसकी चूत थोड़ी फूल गई थी तब भी मैं उसको चोदता रहा और उसके बाद में मैं झड़ गया। तब तक वह भी झड़ गई थी.


आखिर में हम दोनों बाथरूम में जाकर फिर से नहाये और बाद में सबके साथ टूर में लौट आए.


उसके बाद हम दोनों को जब भी मौका मिलता है, मजे करते हैं.


आपको मेरी इस हॉट मैरिड गर्ल सेक्स कहानी में मजा आया हो, तो मुझे मेल कीजिएगा. [email protected]


हिंदी सेक्स स्टोरीज

ऐसी ही कुछ और कहानियाँ